बजट कभी खुशी कभी गम वाला है: अकिंत गुप्ता

बजट में जिस तरह से सधा हुआ पेश किया गया है उससे देखकर ऐसा लगता है कि जैसे कभी खुशी और कभी गम वाली स्थिति है इस बजट मेें नयापन नही है बस सबकों कुछ न कुछ देने या दिलवाने की बात की गयी है जिसके अनुपालन का कोई टाइम लाइन नहीं है बस यही एक वजह है जिसका असर शेयर बाजार को नापसंद आया है जिससे बाजार की स्थिति साफ तौर पर दिखाई दे रही है। यह बात वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन द्वारा पेश किये गये यूनियन बजट पर सी आई आई के अध्यक्ष अकिंत गुप्ता ने कही।
उन्होंने कहा कि कॉर्पोरेट कम्पनियों के लिये तो टैक्स में और छूट देने की घोषणा की गई वह स्वागतयोग है। टीडीएस की प्रतिक्रिया को भी सरल करने की मांग रखी थी जिस पर बजट में कुछ नही कहा गया है।

 

 

इस मौके पर पूर्व अध्यक्ष किरन चैपड़ा ने कहा कि इस बजट को 10 मंे से 05 अंक दिये जा सकतें है। जिस तरह से सरकारी घाटा 3.3 से बड़कर 3.8 हो गया है जोकि खतरनाक हालात है यदि इसमें वृद्धि होती है और हालत कमजोर हो जायेंगे।
ईवान फूड्स प्रा0 लिमिटेड के प्रबंध निदेशक तान्या अग्रवाल ने कहा कि नगदी की भारी कमी है जिसके के लिए कोई उपाय नही बताये गयें है जो सबसे ज्यादा जरुरी है यदि इस का कोई जवाब जल्दी हल नही किया जायेगा तो मंदी और ज्यादा गहरायीगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *