एफपीओ और ई-नाम प्लेटफॉर्म को मजबूती से लघु कृषक कृषि व्यापार संघ बनेगा जीवन रेखा- नरेन्द्र सिंह तोमर

1000 मंडियों को ई-नाम से जोड़े जाने की सराहना कीय 1.66 करोड़ से ज्यादा किसान, 1.30 लाख से अधिक व्यापारी ई-नाम के साथ पंजीकृत एफपीओ और ई-नाम प्लेटफॉर्म को मजबूत से लघु कृषक कृषि व्यापार संघ (एसएफएसी) का है, जो वर्तमान परिस्थितियों में ई-नाम प्लेटफार्म को सशक्त बनाने के लिए भी उत्तरदायी है। एसएफएसीकी स्थापना के बाद से देश में संस्थागत व निजी क्षेत्र के निवेश के में काफी प्रगति हुई है। यह बात एसएफएसी की 24वीं प्रबंधन बोर्ड व 19वीं वार्षिक जनरल बोर्ड की बैठक में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली मंे कही।

श्री तोमर ने कहा कि इससे पहले एसएफएसी वर्तमान योजनाओं के आधार पर एफपीओ का गठन करता था, लेकिन अब प्रसन्नता की बात है कि प्रधानमंत्री जी ने पूरे देश में 10 हजार एफपीओ का गठन करने की घोषणा की है, जिससे इस काम में गति आएगी। एफपीओ का केवल गठन हीन हो, बल्कि वे अपने उद्देश्यों की भी प्राप्ति करें। उनकी जिम्मेदारी इन मायनों में और भी बढ़ जाती है कि वे यह सुनिश्चित करें कि किसान सामूहिक रूप से इकट्ठे हो, विचार करें, उनका प्रशिक्षण हो, उत्पादन बढाएं, विविध फसलें लें, कीटनाशकों के कम इस्तेमाल इत्यादि पर मंथन हो आदि। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने किसानों की आमदनी दोगुनी करने का लक्ष्य तय किया है। उन्होंने कहा कि कोविड का संकट बीच में आया, फिर भी कृषि मंत्रालय और किसानों की गति धीमी नहीं हुई। श्री तोमर ने तारीफ करते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान कृषि उपज के परिवहन की समस्या हल करने के लिए एसएफएसी ने किसान रथ एप को मंत्रालय के अधिकारियों के सहयोग से लॉन्च किया, जिससे काम सुगम हो सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *