उत्तर प्रदेश में सिंगापुर के द्वारा व्यपार में निवेश के अवसर पर इंटरएक्टिव वेबिनार सत्र सिद्धार्थ नाथ सिंह के साथ

कैबिनेट मंत्री सूक्ष्म लघु माध्यम उद्योग, निवेश और एक्सपोर्ट प्रोमोशन, कपड़ा, खादी और ग्राम उद्योग, उत्तर प्रदेश,सरकार

पी एच डी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (च्भ्क्ब्ब्प्) के उत्तर प्रदेश चैप्टर ने सिद्धार्थ नाथ सिंह, कैबिनेट मंत्री – सूक्ष्म लघु माध्यम उद्योग, एक्सपोर्टप्रोमोशन, वस्त्र, खादी और ग्राम उद्योग, उत्तर प्रदेश सरकार के साथ सिंगापुर द्वारा व्यपार में निवेश के अवसर पर एक इंटरैक्टिव वेबिनार सत्र का आयोजन किया।

डी.के. अग्रवाल प्रेसीडेंट पी एच डी चैंबर ने अपने प्रेसिडेंशियल संबोधनमें, सिद्धार्थ नाथ जी माननीय कैबिनेट मंत्री पी कुमारन हाई कमीशन इंडिया – सिंगापुर एवं सभी अतिथियों का स्वागत किया और अपने विचार रखते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश निवेश के लिये एक बाडा बाजार है और यहाँ पर व्यपार में में निवेश करने क लिये बहुत महत्वपूर्ण अवसर उपलब्ध है।

प्रसून मुखर्जी अध्यक्ष, प्ठक् ने अपने संबोधन में सभी वक्ताओ का परिचय देते हुआ कहा की वर्तमान में इंडस्ट्रीलाईजेशन एवं ट्रांसफॉर्ममेशन के लिये जागरूक करने की आवश्यकता है और विभिन्न पहल को साझा किया जिससे भारत और सिंगापुर के बीच व्यावसायिक विकास बढ़ सकता है।

मनोज गौड़, चेयरमैन, उत्तर प्रदेश चैप्टर, पी एच डी चैंबर ने अपने संबोधन में सभी वक्ताओ का स्वागत करते हुए कहा की उत्तर प्रदेश निवश करने के लिये आर्थिक रूप से पूरी तरह विकसित है और उन्होंने हेंडीक्राफ्ट चमडा एग्रो बेस्ड फूड प्रोसेसिंग पर्यटन जैसे क्षेत्रों को निवेश के लिये अति महत्वपूर्ण बताया।
डॉ चंद्रू अध्यक्ष ने अपने संबोधन में उत्तर प्रदेश की क्षमता पर प्रकाश डालते हुए बताया की स्किल डेवलपमेंट, हेंडीक्राफ्ट टेक्नोलॉजी जैसे क्षेत्रों को आज के संदर्भ में ओधोयोगिक करण की आवश्यकता है ।

डॉ ललित खेतान, मेंटर, उत्तर प्रदेश चैप्टर पी एच डी चैंबर, ने सरकार कि सराहना करते हुए कहा की आत्म निर्भर भारत की ओर अग्रसर होना है और यह भी बताया की उत्तर प्रदेश में निवेश को आकर्षित करने से निर्यात को दो गुन्ना बढाया जा सकता है।

श्री गौतम बनर्जी अध्यक्ष साउथ एशिया बिजनस ग्रुप, सिंगापुर बिजनस फेडरेशन ने अपने संबोधन में बताया कि उत्तर प्रदेश में टूरिज्म भी निवेश करने के लिये एक बड़ा क्षेत्र है और यह भी बताया कैसे सिंगापुर उत्तर प्रदेश के विकास में अपना योगदान दे सकता है और यह भी कहा सिंगापुर के सहयोग से उत्तर प्रदेश के साथ उत्तर प्रदेश में टेक्नोलॉजी एवं वोकेशनल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट स्थापित किया जा सकता है।

तय लियन चेव ग्लोबल मर्केर्ट्स डायरेक्टर साउथ एशिया एंटरप्राइज सिंगापुर ने बताया ग्लोबल नेटवर्क व्वसाय में कैसे सरलता से लाभ ले सकता है और अपने सस्थान के आने वाले कार्यक्रमो की सूची साझा की।
श्री चन्द्र मोहन रेथ्नाम वाईस चेयरमैन ने बताया सिंगापुर में संख्या बढ़ने का एक कारण ओधोयोगिक वातावरण है और यह भी कहा उत्तर प्रदेश व्यापार के लिये एक बड़ा बाजार है जहा पर निवेश को बढ़ावा देने के लिये मानव पूंजी की पहल करने की जरूरत है ।

पी कुमारन हाई कमिश्नर ऑफ इंडिया तो सिंगापुर ने अपने संबोधन में बताया कि भारत में उत्तर प्रदेश एक निवेश का बड़ा केंद्र है और जहा पर इनोवेशन, साइबर सिक्यूरिटी
कृत्रिम होशियारी, अग्री टेक जैसे क्षेत्रों में निवेश करने के लिये उत्तम है और उन्होंने यह भी कहा की एक मंच की जरूरत है जहा सिंगापुर और उत्तर प्रदेश को एक दुसरे से जोड़ जा सके।

सिद्धार्थ नाथ सिंह – कैबिनेट मंत्री, सूक्ष्म लघु माध्यम उद्योग, एक्सपोर्ट प्रोमोशन, कपड़ा, खादी और ग्राम उद्योग, उत्तर प्रदेश सरकार ने इस सत्र का आयोजन करने के लिये पी एच डी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज को धन्यवाद दिया और उत्तर प्रदेश में निवेश के लिये आने वाले अवसरों के बारे में बताते हुए कहा की उत्तर प्रदेश सरकार की ग्लोबल सप्लाई चेन बनाने की भी अपार संभावना है और यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश टेक्सटाइल ,फूड प्रोसेसिंग ,स्किल ट्रेनिंग टूरिज्म, इंटीग्रेटेड टाउनशिप एवं एलेक्ट्रोनिस वहिकल जैसे क्षेत्रों में निवेश करने के लिये अति उत्तम है और साथ में इस बात पर जोर दिया कि वर्तमान समय में एक मंच की आवश्यकता है जहा दोनों देशो के बीच निवेश बढाया जा सके।

पी एच डी चैंबर के प्रधान निदेशक डॉ रंजीत मेहता ने इसे अच्छी तरह से संचालित किया। सौरभ सान्याल सेक्रेटरी जनरल पीए च डी चैंबरने सभी प्रतिष्ठित गणमान्य व्यक्तियों और प्रतिभागियों को इस सार्थक सत्र के लिए अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।

वेबिनार में बहुत अच्छी तरह से बातचीत हुई और पी एच डी चैंबर के 150 सदस्यों ने भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *