परिधान निर्यात को निर्यात दोगुना करने के लक्ष्य -श्री गडकरी

केंद्रीय सूक्ष्म,लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्री नितिन गडकरी ने निर्यात दोगुना बढ़ाने के लिए परिधान निर्यात संवर्धन परिषद (एईपीसी) को उपाय करने को कहा है। उन्होंने गुणवत्ता में सुधार और वैश्विक बाजार में लागत प्रतिस्पर्धी बने रहने के लिए प्रौद्योगिकी उन्नयन और अनुसंधान पर भी जोर दिया। वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक कार्यशाला का उद्घाटन करने के दौरान बोल रहे थे जो परिधान निर्यात संवर्धन परिषद और एमएसएमई मंत्रालय की एक संयुक्त पहल था। श्री गडकरी ने कहा कि सरकार एमएसएमई क्षेत्र में तरलता, तनाव प्रबंधन के लिए हाल ही में घोषित पैकेज के माध्यम से सहायता प्रदान कर रही है।

श्री गडकरी ने वैश्विक मानकों के तहत उत्पादों और डिजाइन के लिए प्रयोगशाला परीक्षण शिविर की आवश्यकता पर भी जोर दिया और बेहतर डिजाइन के लिए एक डिजाइन केंद्र का आह्वान किया।
श्री गडकरी ने कपड़ा उद्योग में बांस जैसे नए स्रोत सामग्रियों का उपयोग करने की आवश्यकता पर जोर दिया। अर्थव्यवस्था में, विशेषकर ग्रामीण, आदिवासी और पिछड़े क्षेत्रों में बड़ी संख्या में रोजगार सृजन और इसमें एमएसएमई की महत्वपूर्ण भूमिका का उल्लेख करते हुए श्री गडकरी ने परिधान कपड़ा उद्योग को इन क्षेत्रों में परिधान केंद्र (क्लस्टर) स्थापित करने और उनके विकास और रोजगार सृजन में योगदान करने के लिए कहा जो एक बड़ी प्राथमिकता है।

श्री गडकरी ने परिधान निर्यात संवर्धन परिषद (एईपीसी) के अच्छे काम और निर्यात की गुणवत्ता के लिए इसकी निभाई गई भूमिका की सराहना की। उन्होंने कहा कि इसमें और सुधार किया जा सकता है।

कार्यशाला में एमएसएमई और परिधान उद्योग के कई प्रतिभागी ऑनलाइन शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *