शरीर के टुकड़े कर रहे कातिलों की हैवानियत को बयां, शरीर के किए है आठ टुकड़े

  • कुत्ते खा जाते शव के टुकड़े तो कभी नहीं पता चलती सनसनीखेज घटना
  • शव के टुकड़ों से दिख रही नफरत की झलक, नफरत के साथ मारकर डाला
  • एक तरफा प्यार या अवैध संबंध इन सब पर पुलिस का फोकस, शिनाख्त बड़ी मुसीबत
    सिकंदर ब्यूरो चीफ

  • बोरे में बंद लाश के टुकड़े कातिलों की हैवानियत को बयां कर रहे थे. टुकड़ों को देखकर स्पष्ट लग रहा था कि नफरत के साथ इस वारदात को अंजाम दिया गया है. इतनी बेरहमी से मारा उनेक शव के टुकड़ों को हम आपको चित्र में भी नहीं दिखा सकते है. पोस्टमार्टम हाउस में महिला के शरीर के अंग लगाए गए तो साफ हुआ कि आठ भागों से महिला को काटा गया है. सिर न होने की वजह से पहचान भी नहीं हो सकी है. अवैध संबंध, एक तरफा प्यार और रंजिशन हत्या पर पुलिस की जांच अभी शुरू हो सकी है. आखिर यह हैवान कौन है जिन्होंने हत्याकांड को अंजाम दिया, इन तक पहुंच पाना पुलिस के लिए टेढ़ी खीर बन गया है.
    … तो न उठता वारदात से पर्दा
    महिला की हत्या करने के बाद जिस तरह से टुकड़े करके लाश को फेंका गया है, इसके पीछे की मंशा पर भी अधिकारियों ने मंथन किया है. जिस तरह से शव को फेंका तो पुलिस अधिकारियों का मानना है कि शव को कुत्ते नोच-नोच कर खा जाते और किसी को पता भी नहीं चलता. सिर इसलिए ले गए ताकि महिला के बाल और चेहरे से कोई पहचान न कर लें. यदि बच्चे शोर न मचाते और कुत्ते टुकड़ों को कूड़े में खा जाते तो शायद इस सनसनीखेज हत्याकांड का पता न चलता. सभी पुलिस अधिकारी इस हत्याकांड को खोलने में उलझ गए है. सबसे बड़ी दिक्कत शव पर चेहरा नहीं होने से है. पहचान कराने के बाद पुलिस को कार्रवाई करने में आसानी मिलती लेकिन यह मर्डर पुलिस के लिए बहुत बड़ी चुनौती बन गया है. शहर में सभी थानों में वायरलैस किया गया है कि उनके यहां से कोई महिला लापता तो नहीं है, सोशल मीडिया का भी सहारा लिया जा रहा है.
    … तो करीबी है कातिल
    पुलिस ने हत्याकांड के बाद अपनी जांच पड़ताल शुरू कर दी है. अलग-अलग बिंदुओं पर जांच पड़ताल की जा रही है. माना जा रहा है कहीं ऐसा तो नहीं कि एकतरफा प्यार में सिरफिरे ने वारदात को अंजाम दिया हो? दूसरा पुलिस अवैध संबंधों में हत्या की बात मानकर भी अपनी पड़ताल कर रही है. इसके साथ ही रंजिशन हत्या और प्रापर्टी को लेकर मर्डर तमाम बिंदुओं पर जांच की जा रही है. हत्याकांड को लेकर अलग-अलग बिंदुओं पर पुलिस अपनी जांच को आगे बढ़ा रही है लेकिन किसी भी एंगल पर पुलिस को ठोस साक्ष्य नहीं मिल रहा है. एसपी सिटी डा. अखिलेश नारायण सिंह का कहना है कि कई लाइनों पर काम किया जा रहा है, एक बार पहचान हो जाए तो घटना से पर्दा उठाया जा सकेगा.
    आठ बार वार करके काटा गया शव
    पुलिस शव को लेकर पोस्टमार्टम में पहुंची तो वहां डाक्टरों की देख रेख में पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू हुई. इंस्पेक्टर लिसाड़ी गेट प्रशांत कपिल ने बताया कि शव के आठ टुकड़े किए गए है. पोस्टमार्टम हाउस के डाक्टरों ने शव को चेक किया तो आठ भागों में शव कटा हुआ बताया है. जिसको वह अपनी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी शामिल कर रहे है. इस साक्ष्य को पुलिस अपनी जांच में भी शामिल करेगी.
    दो दिन पुराना है शव, मारकर फेंका गया
    पुलिस की जांच पड़ताल में सामने आया है कि यह शव दो दिन पुराना है, जिसको मारकर फेंका है. पोस्टमार्टम हाउस में तैनात डाक्टरों ने पुलिस को बताया कि टुकड़े सफेद पड़ रहे है. ऐसे में कम से कम दो दिन पूर्व हत्या करके शव को फेंका गया है. दो दिन पूर्व का हत्याकांड मानकर पुलिस जांच कर रही है. पुलिस का मानना है कि हत्या करने के बाद शव के कई टुकड़े करके बोरे में बंद करके लाश को यहां फेंका गया है. सिर इसलिए छिपाया गया है ताकि महिला की पहचान न हो सके.।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *