सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन में अटकी रकम के लिए कारोबारी परेशान

मण्डलीय फैसिलिटेशन काउंसिल, लखनऊ की चतुर्थ बैठक

सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम तथा निर्यात प्रोत्साहन अनुभाग-2 उ०प्र० शासन लखनऊ, द्वारा प्रदेश में कार्यरत सूक्ष्म, लघु इकाईयों के भुगतान सम्बन्धी समस्याओं तथा उन्हें भुगतान में धनराशियों अटकी रहने के कारण कार्यशील पूँजी में आने वाली समस्याओं के निकराकरण हेतु मंडलायुक्त रंजन कुमार की अध्यक्षता में मण्डलीय फैसिलिटेशन काउंसिल, लखनऊ की चतुर्थ बैठक मंडलायुक्त सभागार में सम्पन्न हुई।
संयुक्त आयुक्त उद्योग सदस्य सचिव मण्डलीय फैसिलिटेशन काउंसिल, लखनऊ द्वारा काउंसिल के समक्ष 08 सन्दर्भ कन्सीलियेशन की सुनवायी तथा 11 सन्दर्भ पंजीयन व 02 सन्दर्भ काउंसिल के आदेश एवं अवलोकन हेतु प्रस्तुत किये गये, जिस पर काउंसिल द्वारा कन्सीलियेशन हेतु प्रस्तुत सन्दर्भों में प्रकरण का निस्तारण आपसी सुलह से करते हुए अपने-अपने सुलह प्रस्ताव आगामी बैठक में प्रस्तुत करने हेतु सम्बन्धित को निर्देशित किया गया. साथ ही पंजीयन हेतु प्रस्तुत 11 सन्दर्भों में पंजीयन एवं अवलोकन एवं आदेश हेतु प्रस्तुत 02 सन्दर्भ ट्रेडिंग से सम्बन्धित होने के कारण उन्हें निरस्त किये जाने सम्बन्धी कार्यवाही की गयी।
मण्डलीय फैसिलिटेशन काउंसिल लखनऊ की बैठक के पश्चात् आयुक्त, लखनऊ मण्डल, लखनऊ की अध्यक्षता में गठित मण्डलीय उद्योग बन्धु समिति की बैठक आयोजित हुई।
मण्डलीय उद्योग बन्धु समिति की बैठक में औद्योगिक क्षेत्र सरोजनी नगर, अमौसी एवं बन्धरा में जल भराव की समस्या पर आयुक्त महोदय द्वारा निर्देशित किया गया कि पूर्व में एन०एच०एव आई० द्वारा समिति को अवगत कराया गया था कि लखनऊ कानपुर हाई वे का निर्माण प्रक्रियाधीन है, जिसके पश्चात् उक्त समस्या का निराकरण हो जायेगा, परन्तु अभी तक समस्या का निराकरण न होने के कारण एन0एच0ए0आई0 के मुख्य प्रबन्धक को एक पत्र प्रेषित किये जाने तथा यूपीसीडा द्वारा उक्त औद्योगिक क्षेत्र में आन्तरिक नालियों एवं साफ-सफाई हेतु लोक निर्माण विभाग को अवमुक्त की गयी धनराशि रू0-183.86 लाख के सापेक्ष प्राथमिकता के आधार पर कार्य पूर्ण कराये जाने हेतु लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया गया।
इस अवसर पर पवन अग्रवाल, संयुक्त आयुक्त उद्योग, रीता मित्तल, अध्यक्ष अवध प्रांत, लघु उद्योग भारती, लखनऊ मनीष गोयल, आई०आई०ए०, लखनऊ मदन सिंह, एफ0एस0ओ0 फायर सर्विस गोमती नगर, लखनऊ मनोज चैरसिया, उपायुक्त उद्योग, लखनऊ, श्री अरविंद रंजन, अग्रणी जिला प्रबन्धक, बैंक ऑफ इण्डिया, लखनऊ, पीयूष मौया, अधिशाषी अभियन्ता जल निगम, लखनऊ, अखिलेख कुमार मिश्रा, उपायुक्त, वाणिज्यकर, एन०के० आदर्श, यूपीसीडा, रामकरन सिंह, क्षेत्रीय अधिकारी, उ०प्र० प्रदूषण नियन्त्रण बोर्ड अजय मिश्रा, अधिशाषी अभियन्ता लेसा विशाल सिंह, सहायक अभियन्ता, लोक निर्माण विभाग रजत मेहरा, अध्यक्ष अमौसी, इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन आदि मौजूद थे।