स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में यूपी के 03 नगर निगम, 04 नगर पालिका परिषद और 03 नगर पंचायत को पुरस्कार के लिए चुना गया–अमृत अभिजात

उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव की तैयारियां पूरी हो चुकी है सिर्फ आयोग के आदेश का इंतिजार

पूजा श्रीवास्तव

स्वच्छ भारत मिशन- शहरी के अंतर्गत बीते दिनों एक अतंर नगरीय प्रतिर इंडियन स्वच्छता लीग (आईएसएल) का आयोजन किया गया था। इसमें, देश भर के 1800 से ज्यादा शहरों ने भाग लिया। इस इंडियन स्वच्छता लीग में उत्तर प्रदेश के शहरों ने नया कीर्तिमान स्वा है। प्रदेश के नगर निगम अलीगढ़, नगर निगम मेरठ और नगर निगम आगरा को विशेष पुरस्कार दिया गया है। यें बातें नगर विकास विभाग के प्रमुख सचिव अमृत अभिजात और राज्य मिशन निदेशक स्वच्छ भारत मिशन नेहा शर्मा ने संयुक्त प्रेसवार्ता के दौरान नगरीय निकाय निदेशालय, गोमतीनगर विस्तार में कहीं

अमृत अभिजात ने बताया कि नगर निकायों को कमरा मुक्त शहर बनाने की दिशा में जनभागीदारी से अभिनव प्रयोगों के लिए यह पुरस्कार दिए गए हैं। नई दिल्ली में आयोजित एक विशेष कार्यक्रम के दौरान में यह पुरस्कार दिए गए हैं।
अमृत अभिजात ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत दिए जाने वाले इन पुरस्कारों के लिए उत्तर प्रदेश का प्रदर्शन बेहतर रहा है। प्रदेश के 3 नगर निगम, 4 नगर पालिका परिषद और 3 नगर पंचायत को पुरस्कारों के लिए चुना गया है। इस सूची में नगर निगम लखनऊ नगर निगम कानपुर, नगर निगम मेरठ, नगर पालिका परिषद गंगाघाट, नगर पालिका परिषद गजरौला, नगर पालिका परिषद मुजफ्फरनगर नगर पालिका परिषद बिजनौर, नगर पंचायत जैथरा, नगर पंचायत इकदिल और नगर पंचायत चिरैयाकोट शामिल है। उन्होंने बताया कि स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के नतीजे नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में घोषित किए गये।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि धूल के कारण होने वाली समस्याओं के लिए बनारस और गोरखपुर में अभिवन प्रयास किये जा रहे है जिसके परिणाम बहुत अच्छे आ रहे है उन्ही आधार पर प्रदेश के अन्य शहरों की धूल के कणों को सीमित करने का कोशिश करेंगे।
निकाय चुनाव के जवाब में उन्होंने कहा कि तैयारियां पूरी हो चुकी है सिर्फ आयोग के आदेशों को इंतिजार है जो नये परिसिमन बने है उनमें कुछ काम रह गया है वह भी कुछ दिनों में पूरा हो जायेगा।