Wed. Jun 26th, 2019

बीजेपी भीम आर्मी चन्द्रशेखर को वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़वा कर दलितों का वोट बाटवां रही है: मायावती

दलितों का वोट बांटकर बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए ही बीजेपी भीम आर्मी के संचालक चन्द्रशेखर को वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़वा रही है।
यह संगठन बीजेपी ने ही षडयंत्र के तहत बनवाया है और इसकी आड़ में ही अपनी दलित-विरोधी मानसिकता वाली घिनौनी राजनीति कर रही है क्योंकि उसे केन्द्र की सत्ता गवंाने का भय बुरी तरह से सताने लगा है।
अहंकारी, निरंकुश व घोर जातिवादी व साम्प्रदायिक बीजेपी को सत्ता से हटाने के लिये दलितों का एक-एक वोट बहुत कीमती है। इसे किसी भी हाल में बर्बाद नहीं होने देना है ताकि बाद का जीवन और ज्यादा नरक ना हो और फिर आगे कोई भी पछतावा नहीं होः यह बयान बी.एस.पी. की राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश व पूर्व सांसद मायावती जारी किया।

मायावती ने कहा कि देश में ख़ासकर दलित व अन्य पिछड़े वर्ग (ओ.बी.सी.) में अधिकतर संगठन व छोटी-छोटी पार्टियाँ चुनाव में बी.एस.पी. व बाबा साहेब डा. भीमराव अम्बेडकर के कारवाँ को नुकसान पहुँचाने व दलित व ओ.बी.सी. विरोधी पार्टियों को फायदा पहुँचाने के लिए ही बनी हैं जिनको ये पार्टियाँ अपने स्वार्थ के लिये अपने-अपने हिसाब से लगातार इस्तेमाल करती हैं, इससे इन वर्गों के लोग सावधान रहें अर्थात् अपना वोट इन संगठनों व पार्टियों को देकर व अपने वोट बांटकर विरोधी पार्टियों को फायदा ना पहुँचायें जिसके तहत् ही, बीजेपी ने खासकर दलितों के वोट बांटकर, बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए, ही भीम आर्मी के संचालक चन्द्रशेखर को वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़वा रही है ताकि बी.एस.पी. का दलितों का वोट थोड़ा बंट जाये।
मायावती ने कहा कि वैसे भी इस संगठन के बारे में यह बात विदित है यह संगठन बीजेपी ने बनवाया है इसी को ही आगे करके षडयन्त्र के तहत सहारनपुर ज़िले में शब्बीरपुर काण्ड कराया गया। यह सब खुलासा होने पर, फिर इसका व अपने नये षडयन्त्र को बचाने हेतु उसे जेल भेजा गया और अब चुनाव नज़दीक आते ही बीजेपी ने ही उसे जेल से बाहर किया हुआ है।
मायावती ने कहा कि शुरू में बीजेपी ने इसे हमारी पार्टी में भेजने की कोशिश की ताकि गुप्तचरी करके बी.एस.पी. की सभी गतिविधियों की, इनके द्वारा बीजेपी को जानकारी मिलती रहे, लेकिन बीजेपी इसमें फेल होने के बाद, उसे अब वाराणसी से श्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़वा रही है ताकि बी.एस.पी. का दलित बेस वोट थोड़ा बंट जाये और यह वोट जितना बंटेेगा तो उतना ही बीजेपी को फायदा पहुंच जायेगा।
मायावती ने कहा कि बीजेपी को फायदा पहुँचाने के लिए इनको उतारे गये इस व्यक्ति को ख़ासकर दलित वर्ग के लोग किसी भी भावना में आकर अर्थात् यार-दोस्त, रिश्ते-नाते व जाति-बिरादरी आदि के चक्कर में आकर अपना वोट ख़राब ना करें इसी ही प्रकार अन्य संगठनों से भी सावधान रहें।
मायावती ने कहा कि देश के 130 करोड़ की जनसंख्या में से बहुसंख्यक समाज अर्थात करोड़ों गरीबों, मजदूरों, किसानों, बेरोजगारों व अन्य अति-परेशान मेहनतकश लोगों के साथ-साथ घोर दलित, पिछड़ा, मुस्लिम व अन्य धार्मिक अल्पसंख्यक समाज विरोधी बीजेपी को केन्द्र की सत्ता से बाहर करने के लिये इनका एक-एक वोट बहुत कीमती है। इसे किसी भी कीमत में बर्बाद नहीं होने देना है ताकि बाद का जीवन और ज्यादा नरक ना हो ओर फिर आगे कोई भी पछतावा नहीं हो।
मायावती ने कहा कि मेरी बी.एस.पी. व सपा एवं आर.एल.डी. के सभी छोटे-बड़े पदाधिकारियों, नेताओं एवं कार्यकर्ताओं से यह पुरज़ोर अपील है कि वे इस चुनाव में पर्दे के पीछे से बीजेपी द्वारा स्वार्थी क़िस्म के लोगांे को मैनेज करके व उन्हें आगे करके ख़ासकर यहाँ दलितों, पिछड़ों, मुस्लिम व अन्य धार्मिक अल्पसंख्यक समाज आदि के नाम पर बनवाई गई पार्टियों एवं इनके संगठनों के द्वारा भी षड़यन्त्र के तहत् खड़े किये उम्मीद्वारों को अपने यार-दोस्त, जाति-बिरादरी व रिश्तेनातांे आदि के चक्कर में पड़कर अपना वोट कतई भी ख़राब नहीं करेंगे तथा अपने बने इस सामाजिक भाईचारे को मजबूत करने के साथ-साथ अहंकारी बीजेपी सरकार का चूल हिला देने वाले इस गठबन्धन को कतई भी नुक़सान नहीं पहुँचायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *