Sat. Jul 20th, 2019

शाहूजी महाराज ने शिक्षा, महिला उत्थान तथा शिक्षा के लि खजाने खोल दिये थे- श्री नाईक

छत्रपति शाहूजी महाराज ने शिक्षा, महिला उत्थान तथा शिक्षा के प्रकाश को घर-घर पहुँचाने के लिए राज्य के खजाने खोल दिये थे। यह बात
उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने छत्रपति शाहूजी महाराज जयंती के अवसर पर किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में छत्रपति शाहूजी महाराज स्मृति मंच द्वारा आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ द्वीप प्रज्जवलित करने के दौरान कही।
श्री नाईक ने कहा कि छत्रपति शाहूजी महाराज कोल्हापुर से संबंधित हैं जहाँ का मैं भी निवासी हूँ। छत्रपति शाहूजी महाराज ने शिक्षा, महिला उत्थान तथा शिक्षा के प्रकाश को घर-घर पहुँचाने के लिए राज्य के खजाने खोल दिये थे। शाहूजी महाराज पहले राजा थे जिन्होंने 1902 में सामाजिक समरसता एवं बराबरी देने के लिए आरक्षण की घोषणा की थी जिसके फलस्वरूप कोल्हापुर ने सर्वाधिक शिक्षित क्षेत्र के रूप में पहचान बनाई थी। छत्रपति शाहूजी ने डाॅ0 आंबेडकर की प्रतिभा को पहचान कर उन्हें विदेश में शिक्षा ग्रहण करने में सहयोग किया। डाॅ0 आंबेडकर ने स्वतंत्रता के पश्चात् संविधान का निर्माण किया। छत्रपति शाहूजी महाराज द्वारा किये गये कार्यों के दृष्टिगत 100 वर्ष पूर्व 1919 में कानपुर में कुर्मी समाज का महाधिवेशन मेें उन्हें ‘राजर्षि’ की उपाधि प्रदान की गयी थी। राज्यपाल ने कहा कि महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश का संबंध काफी पुराना है। प्रभु राम का जन्म अयोध्या में हुआ था पर वनवास के समय वे नासिक में रहे। हिन्दवी साम्राज्य की स्थापना करने वाले शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक काशी के विद्धान गागा भट्ट ने किया था। 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम को अंग्रेजों ने बगावत कहा था परन्तु स्वातंत्र्य वीर सावरकर ने इसे प्रथम स्वतंत्रता समर बताया।
राज्यपाल ने बताया कि शैक्षिक सत्र 2017-18 में हुये दीक्षान्त समारोह में 15.60 लाख छात्र-छात्राओं को उपाधियाँ प्रदान की गई हैं जिसमें 51 प्रतिशत छात्राएं थी परन्तु परन्तु नकल रोकने हेतु की गयी सख्ती के कारण शैक्षिक सत्र 2018-19 में 12.79 लाख विद्यार्थी ही परीक्षा में सम्मिलित हुये तथा छात्राओं का प्रतिशत 56 हो गया था। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश आगे बढ़ रहा है।
इस अवसर पर श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, संस्था के अध्यक्ष रामचन्द्र पटेल सहित अन्य लोगों ने भी अपने विचार रखे। राज्यपाल ने कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों को सम्मानित भी किया। राज्यपाल ने संस्था द्वारा लाईबे्ररी स्थापित करने पर उनके पास छत्रपति शाहूजी से संबंधित ग्रंथ एवं पुस्तकों को दान देने की बात भी कही।

कार्यक्रम में प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 एम0एल0बी0 भट्ट, संस्था के अध्यक्ष रामचन्द्र पटेल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो0 एस0एन0 शंखवार, पद्मश्री प्रो0 एस0एन0 कुरील सहित अन्य विशिष्टजन मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *