Fri. Nov 15th, 2019

स्टार्ट अप की बौद्धिक संपदा का फायदा उठाने के लिए निवेशक तैयार


स्टार्ट अप इंडिया (स्टैंड अप इंडिया) में 3 लाइन डाॅट विसी डाॅट केएस कंपनी 20 मिलियन डालर के 30 फीसदी हिस्सें से उत्तर प्रदेश समेत पूरे भारत में संयुक्त उपक्रम में निवेश करेंगी। यह बात मेंटाॅरबाबा के संस्थापक एवं निवेशक कमलेश द्धिवेदी ने राजधानी के एक निजी होटल में कही।
उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के स्टार्ट अप इंडिया (स्टैंड अप इंडिया) के साथ उत्तर प्रदेश के वन डिस्ट्रीक वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) में सरकार प्रचार-प्रसार के साथ काफी खर्च कर रही है उसी के तहत यह भी प्रचार-प्रसार कर सहयोग करना चाह रहे हैं।
इसा मौके पर तारिक ने बताया कि स्टार्ट अपन इंडिया और ओडीओपी के प्रोजेक्ट ऐसे लोगों खास कर युवाओं के लिए है जो नयी परियोजनएं शरु करना चाहते हैं ऐंसे में उन्हें प्रोजेक्ट कैसे शरु करना है कौन सा स्थान बेहतर होगा और वित समस्याओं का निपटारा कैस हो इन सभी बातों को एक प्लेटफार्म पर साल्यूशन हम अपने नये प्रोजक्ट मंेटाॅबाबा के तहत उपलब्ध करायेंगे इसके लिए आॅन लाइन और आफॅ लाइन सेवाओं के साथ एक्पार्ट की टीम को अपने साथ जोड़ेंगे और लोगों की मदद करेंगे।

भारतीय प्रंबध संस्थान लखनऊ के प्रोफेसर अभिमानदास का कहना है कि स्टार्ट अप इंडिया (स्टैंड अप इंडिया) में देशी तथा विदेशी निवेशक हर आईडिया का भाविष्य देख कर उसमंे निवेश कर लम्बे समय तक मुनाफा के साथ बौद्धिक संपदा कमाने की फिराक में हैं। विदेशी निवेशक देशी निवेशकों से आगे निकलकर एंजल कैपिटल के बजाय संयुक्त उपक्रम निवेश में ज्यादा रुचि रखें है क्योंकि उसमें निवेश कर मुनाफा जल्दी कमाया जा सकता है।

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ सिंह के स्टैंडी लगा कर मुनाफें के साथ बौद्धिक संपदा का फायदा उठाने के प्रयत्न किये जा रहें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *