Tue. Dec 10th, 2019

जनधन खातों में सवा लाख करोड़ रुपए से भी ज्यादा बचत जमाः प्रकाश जावड़ेकर

बैंको का राष्ट्रीयकरण किया गया था लेकिन गरीबों की पहुंच बैंको तक नहीं हो पाई थी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से बैंको तक गरीबों की पहुंच बनीं। यह बात स्टेट बैंक द्वारा विभिन्न बैंको के सहयोग से आयोजित ग्राहक सम्पर्क कार्यक्रम में केंद्रीय सूचना और प्रसारण तथा वन पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एसबीआई के मुख्य शाखा कार्यलय परिसर में कही।

श्री जावड़ेकर ने कहा कि बैंको ने घर घर जाकर जन-धन खाते खोले , राष्ट्रीयकरण के बाद 45 वर्षों में इतने खाते बैंको में नहीं खोले गए उससे ज्यादा जन-धन खाते खोले गए। श्री जावड़ेकर ने कहा कि जब जीरो बैलेंस पर खाते खोले गये तो लोगों ने सवाल खड़े किए लेकिन आज इन्ही जीरों बैलेंस वाले खातों में सवा लाख करोड़ रुपए से भी ज्यादा बचत जमा हुई है उन्होंने कहा कि बचत से बैंक चलता है, बैंक इसी बचत से कर्ज देगा ।

 

https://youtu.be/EyvqLJ4_EZ0

 

 

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार , स्टैंड अप इंडिया और मुद्रा योजना जैसे कार्यक्रमों के जरिए जरुरतमंद लोगो को कर्ज सुविधा मुहैया करा रही है। उन्होंने बताया कि मुद्रा योजना में 20 करोड़ लोगो को फायदा मिला है ,इनमें से 5 करोड़ से भी ज्यादा अनुसुचित जाति ,जनजाति के और 8 करोड़ से ज्यादा महिलाए है।

श्री जावड़ेकर ने कहा कि समय से कर्ज वापसी भी जरुरी है।समय से कर्ज वापसी से विकास का रास्ता खुलता है।उन्होंने कहा कि महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों को भी बैंको से कर्ज दिया जा रहा है।अब एसे समूहों को पांच लाख रुपए तक के ओवर ड्राफ्ट की भी सुविधा बैंको ने दी है।केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आज बैंक खुद लोगों के दरवाजे पर जाकर उन्हें सुविधायें मुहैया करा रहे है। श्री जावड़ेकर इस मौके पर स्टैंड अप इंडिया और मुद्रा योजना के तहत लाभार्थियों को कर्ज भी बांटें। उन्होंने स्टेट बैंक परिसर में पौधारोपण किया ।

 

एसबी आई की मुख्य महाप्रबंधक सुनिता नारायण ने बताया कि उनकी बैंक की अगुवाई मे विभिन्न सरकारी तथा निजी क्षेत्र के बैंको की ओर से ग्राहक सम्पर्क कार्यक्रम के अंतर्गत स्टाल लगाकर लोगों के सरकार की वित्तीय समावेशन संबधी योजनाओं की विशेष रुप से जानकारी दी जा रही है । इस दो दिवसीय कार्यक्रम के तहत 1523 आवेदन प्राप्त किए गए थे जिसमें से 906 पर कार्यवाही करते हुए विभिन्न बैंको दाव्रा 72 करोड़ 31 लाख रुपये के कर्ज दिए गए।

कार्यक्रम के अंत में पंजाब नेशनल बैंक के महाप्रबंधक समीर बाजपेयी ने कार्यक्रम में मुख्य अतिथि समेत सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *