Tue. Dec 10th, 2019

नगर विकास विभाग व मेसर्स वी0ए0 टेक वाबाग चेन्नई के मध्य करार

https://youtu.be/A7-O299mZAs

 

 

नगर विकास मंत्री  आशुतोष टंडन ‘‘गोपाल जी’’ एवं प्रमुख सचिव, नगर विकास विभाग तथा मा॰ महापौर नगर निगम, गाजियाबाद/मेरठ/सहारनपुर/आगरा की उपस्थिति में   नगरीय निकाय निदेशालय लखनऊ के सभागार में डध्े ट । ज्मबी ॅंइंी स्पउपजमकए ॅंइंहए ब्ींददंप.60011 के साथ परियोजना निदेशक, राज्य स्वच्छ गंगा मिशन, प्रबन्ध निदेशक, उ॰प्र॰ जल निगम, नगर आयुक्त, नगर निगम, आगरा शहर एवं गाजियाबाद/मेरठ/सहारनपुर तथा अधिशासी अधिकारी, नगर पालिका परिषद, पिलखुआ, लोनी, अनूपशहर, बिजनौर, रामपुर, मुजफ्फरनगर की उपस्थिति में आगरा शहर एवं गाजियाबाद क्षेत्र (गाजियाबाद, पिलखुआ, लोनी, अनूपशहर, बिजनौर, रामपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर) सीवरेज ट्रीटमेंट प्लाण्ट व इनसे जुड़े समस्त इन्फ्रास्ट्रक्चर के 10 वर्षीय दीर्घकालिक रख-रखाव, संचालन एवं प्रबन्धन हेतु अनुबन्ध पर हस्ताक्षर किए गए।
इस अवसर पर नगर विकास मंत्री श्री टंडन ने बताया कि प्रदेश में स्थापित एस.टी.पी. के संचालन की स्थिति के दृष्टिगत नगर विकास विभाग का यह दृढ मत है कि एस.टी.पी. व इनसे जुड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर का दीर्घकालिक रख-रखाव, संचालन एवं प्रबन्धन आउटर्साेसिंग के माध्यम से इस क्षेत्र में स्थापित प्रतिष्ठित व दक्ष कम्पनियों के माध्यम से कराया जाना चाहिए। यह कार्य उ0प्र0 जल निगम, जल संस्थान व नगर निगम द्वारा भी स्थानीय ठेकेदारों के माध्यम से कराया जाता है परन्तु व्यवस्था में न तो पूरे सिस्टम का इन्टीग्रेटेड तरीके से रख-रखाव व संचालन की व्यवस्था की जाती है, और न ही दक्ष कम्पनियों को लगाया जाता है, इसमें जहाॅं एक ओर शासन का धन भी व्यय होता है, वही व्यय धन के सापेक्ष वांछित प्रतिफल नहीं मिल पाता है। उन्होंने बताया कि एस0टी0पी0 व इनसे जुड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर के दीर्घकालिक रख-रखाव, संचालन एवं प्रबंधन के कार्य में इस क्षेत्र की प्रतिष्ठित कम्पनियों को लगाये जाने से जन सामान्य को सीवरेज की अच्छी सुविधा प्राप्त हो सकेगी और सीवर सफाई से होनी वाली दुर्घटनाओं को भी रोका जा सकेगा।
नगर विकास मंत्री एवं मा0 महापौर, आगरा, की उपस्थिति में डध्े ट । ज्मबी ॅंइंह स्पउपजमकए ब्ीमददंप के साथ परियोजना निदेशक, राज्य स्वच्छ गंगा मिशन, प्रबन्ध निदेशक, उ0प्र0 जल निगम एवं नगर आयुक्त, नगर निगम आगरा, द्वारा आगरा जोन के सीवेज ट्रीटमेंट प्लाण्ट, इससे सम्बद्व सीवरेज इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं सीवर नेटवर्क के दस वर्षीय दीर्घकालीन प्रभावी रख-रखाव, संचालन व प्रबन्धन हेतु अनुबन्ध हस्ताक्षरित किया गया।
श्री टंडन ने बताया कि अनुबन्ध की धनराशि प्रतिवर्ष रू0 42.80 करोड है। इस अनुबन्ध के अन्तर्गत व्दम ब्पजल व्दम व्चमतंजवतए आगरा जोन में नगर विकास विभाग के 7 एसटीपी (धनधुपुरा-78 एमएलडी, पीलाखर-10 एमएलडी, भूरी का नगला-2.25 एमएलडी, जगनपुर-14 एमएलडी, भीमनगरी-12 एमएलडी, बिचपुरी-40 एमएलडी, एवं धनधुपुरा-24 एमएलडी, सीवेज पम्पिंग स्टेशन एवं लगभग 910.55 किमी0 सीवर नेटवर्क का रख-रखाव, संचालन व प्रबन्धन किया जायेगा।
गाजियाबाद जोन हेतु भी नगर विकास मंत्री, मा0 महापौर, गाजियाबाद, मेरठ व सहारनपुर एव मा0 अध्यक्ष नगर पालिका परिषद- मुज्जफरनगर, पिलखुवा (हापुड़), लोनी (गाजियाबाद़), अनूपशहर (बुलन्दशहऱ), बिजनौर व रामपुर की उपस्थिति में डध्े ट । ज्मबी ॅंइंह स्पउपजमकए ब्ीमददंप के साथ परियोजना निदेशक, राज्य स्वच्छ गंगा मिशन, प्रबन्ध निदेशक, उ0प्र0 जल निगम एवं नगर आयुक्त, नगर निगम गाजियाबाद द्वारा गाजियाबाद जोन के सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, इससे सम्बद्व सीवरेज इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं सीवर नेटवर्क के दस वर्षीय दीर्घकालीन प्रभावी रख-रखाव, संचालन व प्रबन्धन हेतु अनुबन्ध हस्ताक्षरित किया गया।
नगर विकास मंत्री ने बताया कि अनुबन्ध की धनराशि प्रतिवर्ष रू0 104.90 करोड है। इस अनुबन्ध के अन्तर्गत व्दम ब्पजल व्दम व्चमतंजवतए गाजियाबाद जोन में नगर विकास विभाग के 14 एसटीपी इन्द्रापुरम्-74 एमएलडी, डुन्डाहेरा-70 एमएलडी, डुन्डाहेरा-56 एमएलडी, इन्द्रापुरम-56 एमएलडी, पिलखुआ-03 एमएलडी, लोनी-30 एमएलडी, अनुपशहर-2.55 एमएलडी, बिजनौर-24 एमएलडी, पाहड़ी गांव रामपुर-15 एमएलडी, पासीयापुर शुमाली रामपुर-05 एमएलडी, घाटमपुर रामपुर-14 एमएलडी, मेरठ-72 एमएलडी, किदवईनगर मुज्जफरनगर-32.05 एमएलडी, प्रदुमन नगर मलहीपुर रोड़ सहारनपुर-38 एमएलडी, सीवेज पम्पिंग स्टेशन एवं लगभग 2794.29 किमी0 सीवर नेटवर्क का रख-रखाव, संचालन व प्रबन्धन किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *