देश में जल्दी ही लगभग 2000 वाणिज्यिक विमान आकाश में होंगे। – हरदीप सिंह पुरी

The Minister of State for Housing & Urban Affairs, Civil Aviation (Independent Charge) and Commerce & Industry, Shri Hardeep Singh Puri releasing the publication at the Curtain Raiser Ceremony of “WINGS INDIA-2020”, in New Delhi on January 09, 2020. The Secretary (Civil Aviation), Shri Pradeep Singh Kharola and other dignitaries are also seen.

The Minister of State for Housing & Urban Affairs, Civil Aviation (Independent Charge) and Commerce & Industry, Shri Hardeep Singh Puri addressing at the Curtain Raiser Ceremony of “WINGS INDIA-2020”, in New Delhi on January 09, 2020.

एशिया का सबसे बड़ा नागर विमान आयोजन दृविंग इंडिया 2020 12 से 15 मार्च के बीच हैदराबाद में

भारत, दुनिया में नागरिक उड्डयन का तीसरा सबसे बड़ा घरेलू बाजार है जिसमें तेज वृद्धि दिख रही और यह लंबी उड़ान के लिए तैयार है। देश में जिस तरह से विमान बेड़ों का विस्तार हो रहा है देश में जल्दी ही लगभग 2000 वाणिज्यिक विमान आकाश में होंगे। नागर विमानन राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने नयी दिल्ली में विंग्स इंडिया 2020 के पूर्वावलोकन कार्यक्रम में कहा कि उनका मंत्रालय हवाई अड्डों की अवसंरचना विकास पर 25 हजार करोड़ रूपए खर्च करते हुए भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण के साथ मिलकर देश में हवाई अड्डों की संख्या दोगुना करेगा। श्री पुरी ने कहा कि उनके मंत्रालय ने हमने निजिकरण की भी एक योजना बनाई है।

विंग्स इंडिया 2020 भारतीय उड्डयन का एक फ्लैगशिप कार्यक्रम है जो 12 से 15 मार्च के बीच हैदराबाद के बेगमपेट हवाई अड्डे पर आयोजित किया जाएगा। पूर्वावलोकन कार्यक्रम में तेलंगाना राज्य के आईटी और इलेक्ट्रानिक्स मंत्री केटी राव और भारत में विभिन्न देशों के दूतावास प्रमुख और नागर विमानन मंत्रालय के कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

श्री पुरी ने कहा, “विंग्स इंडिया 2020 नए अवसरों और चुनौतियों पर चर्चा करने के लिए विमानन बिरादरी के लिए एक मंच है जिसे सकारात्मक उपलब्धि के लिए लक्षित किया जा सकता है। विमानन क्षेत्र न केवल देश के भीतर बल्कि विदेशों में भी सफलता के कई अवसर प्रदान करेगा। निजीकरण नागरिक उड्डयन क्षेत्र को मजबूत करेगा और इसके व्यापक विस्तार में योगदान देगा। आने वाले वर्षों में दिल्ली और आगामी जेवर हवाईअड्डे संयुक्त रूप से दुनिया के किसी भी हवाई अड्डे से बड़े होंगे। उन्होंने कहा ‘हम इस साल के विंग्स इंडिया आयोजन को नागरिक उड्डयन क्षेत्र की चुनौतियों का सामना करने, ईंधन दक्षता, विश्वसनीय और सक्षम विमानन सेवा भारत में एयरलाइनों के लिए नए मार्ग खोलने और इसे प्रतिस्पर्धी बाजार में लाभदायक बनाए रखने के अवसर के रूप में देखते हैं।

इस अवसर पर श्री राव ने कहा कि हमें इस बात की खुशी है कि हमें एशिया के सबसे बड़े नागर विमानन आयोजन का अवसर मिल रहा है। वह भी हैदराबाद जैसे शहर में जिसमें आने वाले वर्षों में नागर विमानन का हब बनने की बड़ी क्षमता है। उन्होंने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि इस आयोजन से स्थानीय अर्थव्यवस्था को बड़ा लाभ होगा।

इससे पहले नागर विमानन मंत्रालय के सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत करते हुए कहा कि इस आयोजन का उद्देश्य विमानन क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों और नियामकों को एक छत के नीचे लाना है। यह सभी नागरिक उड्डयन क्षेत्र के हितधारकों के लिए एक मंच है जिससे वे अधिक से अधिक तालमेल हासिल कर सकें और एक दूसरे की सर्वोत्तम प्रथाओं से सीख सकें।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *