यूपी एजुकेशनल ऑफिसर्स एसोसिएशन के वार्षिक अधिवेशन का उद्घाटन डॉ दिनेश शर्मा ने किया

 

हर कार्य का एक उद्देश्य होता है। व्यक्ति की प्रतिभा, उसके द्वारा किए जा रहे कार्य व्यक्ति की पहचान बनाते हैं। संगठन बहुत ही जरूरी होता है, इसका मूल मंत्र यही है कि मिलकर समन्वित रूप में एक योजना बनाकर निश्चित उद्देश्य की प्राप्ति की जाए। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने गोमतीनगर स्थित एस०के०डी० एकेडमी में आयोजित दो दिवसीय यूपी एजुकेशनल ऑफिसर्स एसोसिएशन के वार्षिक अधिवेशन के उद्घाटन के अवसर पर यह विचार व्यक्त किया।
उप मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि अपनी बेसिक कठिनाइयों के संबंध में एक सुझाव पत्र दीजिए। उन्होंने कहा कि जरूरी है कि हमें अपने अधिकारियों एवं कर्मचारियों से काम की अपेक्षा करने के साथ साथ उनकी बुनियादी आवश्यकताओं को भी पूरा किए जाने पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुझे आशा है कि इस दो दिवसीय अधिवेशन में विभाग की कार्यशैली को और अधिक सुधारने, शिक्षा व्यवस्था के स्तर को और ऊंचा करने के संबंध में अच्छे विचार निकलकर सामने आएंगे।
डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि आगामी बोर्ड परीक्षा का सफल आयोजन कराना आपके सामने एक बड़ी चुनौती है। इसके लिए आपको संपूर्ण तैयारी करनी होगी, जो भी तैयारियां अधूरी रह गई हैं उसे समय रहते पूरी कर लें, यह आपकी प्रतिष्ठा का विषय है।
उन्होंने कहा कि शिक्षा व्यवस्था में एक नई कार्य परंपरा का इजाद करें। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, प्रयागराज उत्तर प्रदेश को इस स्तर पर ले जाएं कि अन्य बोर्ड के लोग आपकी अच्छाइयों को फॉलो करें और आप से तुलना करें। उन्होंने कहा कि माध्यमिक एवं बेसिक शिक्षा दोनों को आपस में समन्वय स्थापित करते हुए शिक्षा व्यवस्था के बेहतरी में अपना योगदान देना चाहिए।
इस अवसर पर निदेशक बेसिक शिक्षा सर्वेंद्र विक्रम सिंह, निदेशक माध्यमिक शिक्षा विनय कुमार पाण्डेय, संयुक्त शिक्षा निदेशक (शिविर कार्यालय) भगवती सिंह, संघ के अध्यक्ष महेंद्र सिंह यादव एवं महामंत्री अमरकांत सिंह, मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक लखनऊ एवं जिला विद्यालय निरीक्षक, माध्यमिक एवं बेसिक शिक्षा के मंडलीय एवं जनपदीय अधिकारी, एसकेडी संस्था के फाउंडर मैनेजर तथा यूपी एजुकेशन ऑफिसर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी मौजूद थे।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *