Fri. Feb 21st, 2020

सीमा शुल्क संगठन लखनऊ इकाई द्वारा मनाया गया अन्तर्राष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस


दुनियाभर में अन्तर्राष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस प्रतिवर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। क्योंकि इस दिन 1965 को विश्व सीमा शुल्क संगठन (डब्ल्यूसीओ) का गठन किया गया था। विश्व सीमा शुल्क संगठन एक़ अंतर-सरकारी संगठन है, जिसका मुख्यालय बेल्जियम के ब्रुसेल्स में स्थित है। डब्ल्यूसीओ सामूहिक रूप से दुनिया भर में 180 से अधिक सीमा शुल्क प्रशासन का प्रतिनिधित्व करता है। अपनी विश्व भर में सदस्यता के साथ, डब्लूसीओ के उल्लेखनीय कार्य क्षेत्र मेंकृवैश्विक मानकों का विकास, सीमावर्ती प्रक्रियाओं का सरलीकरण एवं हितकारी करना, व्यापार आपूर्ति श्रृंखला-सुरक्षा, अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार को सुसाध्य बनाना, सीमाकर प्रवर्तन, नकल विरोधी कदम उठाना, निजी-सार्वजनिक भागीदारी संवर्धन इत्यादि शामिल हैं। चूंकि भारत में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस का राष्ट्रीय पर्व होता है। इसलिए भारत में यह आयोजन सुविधानुसार एक दिन पश्चात किया जाता है। इसी क्रम में सीमा शुल्क (नि.) आयुक्तालय, लखनऊ द्वारा कल आई.सी.ई. टॉवर, विभूति खण्ड, गोमती नगर, लखनऊ में ‘अन्तर्राष्ट्रीय सीमा शुल्क दिवस-2020’ का आयोजन किया गया।
वेद प्रकाश शुक्ला, आयुक्त की अध्यक्षता में आयोजित किए गए इस कार्यक्रम में सौरभ त्रिपाठी, महानिरीक्षक, सशस्त्र सीमा बल, लखनऊ फ्रंटियर, मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। कार्यक्रम को पारिवारिक रूप देने और महिलाओं एवं बच्चों की अधिक से अधिक सहभागिता सुनिश्चित की गई।
कार्यक्रम का संचालन निहारिका लाखा, उपायुक्त के नेतृत्व में अनुपमा शरद एवं चंद्रशेखर तिवारी ने किया। कार्यक्रम के अंतर्गत राजस्व संग्रह में उल्लेखनीय योगदान करने वाली फर्मों जिनमें मुख्यतयः मिर्जा इटरनेशनल लि. उन्नाव, पी.एन. इटरनेशनल लखनऊ, जोनसन मेथे केमिकल्स प्राइवेट लि. कानपुर.. इत्यादि तथा सीमा शुल्क (नि.) आयुक्तालय, लखनऊ परिक्षेत्र के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर आयोजित रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का प्रारम्भ सरस्वती संगीत अकादमी के विद्यार्थियों द्वारा ‘सरस्वती वन्दना’ से हुआ। सांस्कृतिक कार्यक्रम में विभागीय अधिकारियों एवं उनके परिवारजनों द्वारा अत्यंत मोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। विभागीय कलाकारों में मुख्यत शिव कुमार शर्मा, आयुक्त, ऑडिट लखनऊ, मनोज कुमार श्रीवास्तव, अनुपमा शरद, वनिता शर्मा, सुधीर कुमार, हरीश श्रीवास्तव, एस एल. मौर्या, विवेक, मास्टर अक्षत अवस्थी इत्यादि ने गीत-गजल, लोकगीत एवं भातखंडे समविश्वविद्यालय के कलाकारों ने कव्वाली सुनाकर श्रोताओं का मन मोह लिया।
इसके साथ ही चंचल तिवारी उप आयुक्त की अगुवाई में एक काव्य गोष्ठी का भी आयोजन किया गया जिसमे प्रदीप तिवारी, अशोक कुमार आदि कवियों की प्रस्तुतियां उल्लेखनीय रही। श्रोताओं ने सामयिक कविताओं का खूब रसास्वादन किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में वी पी सिंह, अपर आयुक्त, राकेश श्रीवास्तव (उपायुक्त), निहारिका लाखा (उपायुक्त), चंचल (तिवारी उपायुक्त), वी.के तिवारी (सहायक आयुक्त), राजेश खन्ना, शरद कमल, गोविंद मिश्रा, संजय श्रीवास्तव, अमर उपाध्याय, सौरभ कुमार, पीयूष पाण्डेय, अफी सिद्दीकी, सी बी सिंह एवं प्रमोद सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *