Thu. May 28th, 2020

कोविड.19 का साहस के साथ मुकाबला करते हुए पुल बनानेए बर्फ हटाने के कार्य में सीमा सड़क संगठन के जवान जुटे

ARMY PERSONNEL ARE BUILDING BRIDGE ON A WAR FOOTING OVER POONCH RIVER ON JAMMU-POONCH NATIONAL HIGHWAY TO CONNECT POONCH WITH REST OF THE COUNTRY WHICH WAS WASHED AWAY DUE TO FLASH FLOOD.

कोविड.19 के खतरे का बहादुरी से सामना करते हुएए सीमा सड़क संगठन ;बीआरओद्ध के जवान दापोरिजो पुल ;430 फुट मल्टी स्पैन बैली पुलद्ध को बदलने के लिए लगातार कार्य कर रहे हैंए जो अरूणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले के सभी 451 गांवों में संचार लाइनों को बहाल करने और चीन सीमा पर स्थित सुरक्षा बलों की एकमात्र जीवन रेखा है। 23 बीआरटीएफ ध् परियोजना अरुणांक के जवानए स्थानीय प्रशासन के विशेष अनुरोध परए जोर.शोर से काम कर रहे हैं जबकि मौजूदा पुल जीर्ण.शीर्ण अवस्था में है। बीआरओ ने एक बयान में कहा कि वह सभी आवश्यक एहतियाती उपायों के साथ पहले से निर्धारित तारीख तक संचार की इस महत्वपूर्ण रेखा को खोलने के लिए दृढ़ संकल्प है।
इस बीचए बीआरओ खराब मौसम और कोविड 19 के खतरे के बावजूद वर्तमान में देश के उत्तरी भाग मनाली . लेह अक्ष रेखा पर बर्फ हटाने के काम में दिन.रात लगा हुआ है ताकि समय सीमा से पहले लाहौल घाटी और लद्दाख को राहत मिल सके। वर्तमान में रोहतांग दर्रा और बरलाचला दर्रे से बर्फ हटाने के काम में चार टीमें लगी हुई हैं। यह पहला मौका हैए जब बीआरओ के जवानों को बरलाचला दर्रे से बर्फ हटाने के लिए सरचू की ओर से हवाई मार्ग से सरचू के लिए भेजा गया है।
सीमा सड़क संगठनए रक्षा मंत्रालय की एक महत्वपूर्ण शक्ति हैए यह सशस्त्र बलों की रणनीतिक आवश्यकताओं को पूरा करने में सहायता करने के लिए दुर्गम और दूर दराज के सीमावर्ती क्षेत्रों में निर्माण कार्य करता है और इन स्थानों में सड़कों को दुरूस्त रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *