Fri. May 29th, 2020

विकसित उत्पादों के तकनीकी डिजाइन का आनलाइन उद्घाटन

कोविड-19 वैश्विक महामारी के नियंत्रण एवं बचाव के लिए प्राविधिक विश्वविद्यालय का यह प्रयास जहां एक ओर प्रधानमंत्री एवं उ0प्र0 के मुख्यमंत्री का सभी को आत्मनिर्भर एवं स्वावलंबी बनाने का सपना साकार करने में मील का पत्थर साबित होगा वहीं दूसरी ओर शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के इस समेकित प्रयास से देश एवं प्रदेश के जन सामन्य को लाभ प्राप्त हो सकेगा। यह बात डा0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय लखनऊ से संबद्ध एवं घटक संस्थानों द्वारा विकसित उत्पादों के तकनीकी डिजाइन का आनलाइन उद्घाटन करते उत्तर प्रदेश की प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी ने कही।

इस अवसर पर विवि के विद्यार्थियों एवं शिक्षकों द्वारा विकसित किये गए उपकरणों को वीडियो के माध्यम से प्रदर्शित किया गया। इस कुल 24 प्रोटोटाइप प्रस्तुत किये गये, जिसमें एकेटीयू के सेंटर फॉर एडवांस्ड स्टडीज, लखनऊ एवं आईटीएस इंजीनियरिंग कॉलेज ग्रेटर नोएडा के संयुक्त प्रयासों से विकसित किया गया बहुउद्देशीय रोबोट आकर्षण का मुख्य केंद्र रहा। यह रोबोट डॉ अनुज कुमार शर्मा और महीप सिंह के नेतृत्व में एक टीम ने विकसित किया गया है। यह रोबोट अस्पतालों के वार्डों में भोजन और दवाइयां ले जाने में समक्ष है। साथ ही अस्पतालों के वार्डों को अल्ट्रावाइलेट किरणों एवं सैनिटाइजर स्प्रे के माध्यम से सेनेटाइज करने में सक्षम है। बिना मानवीय सहायता के रोगियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिए व्हील चेयर का काम करने में भी सक्षम है। रोबोट व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग भी करने में सक्षम है। साथ ही रोबोट में लगा कैमरा वार्ड में रोगियों की निगरानी करने का कार्य भी कुशलता से कर सकता है।
प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने विश्वविद्यालय एवं इससे संबद्ध संस्थाओं के छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों को इस प्रकार के किये जा रहे सराहनीय कार्यों के लिए हार्दिक शुभकामनाएं एवं बधाई दी तथा छात्रों द्वारा कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचाव हेतु विभिन्न उपकरणों का निर्माण किये जाने के उत्कृष्ट कार्य हेतु उनके मनोबल एवं उत्साहवर्धन हेतु प्रोत्साहन स्वरूप 11 हजार रुपये की धनराशि प्रदान किये जाने के लिए ए0के0टी0यू0 के कुलपति श्री विनय पाठक को निर्देशित किया।
विवि के कुलपति प्रो विनय कुमार पाठक ने कहा कि विवि ने कोविड-19 महामारी एवं लॉक डाउन जैसी विषम परिस्थियों में प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमल रानी के निर्देशन में ऑनलाइन माध्यम से टीचिंग-लर्निंग, इनोवेशन और शोध के कार्य कुशलता से कर रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 आईडियाथन चैलेन्ज में भी उत्कृष्ट आईडिया प्राप्त हुए हैं। उन्होंने कहा कि विवि प्रतिबद्धता से शिक्षण प्रशिक्षण और नवाचारों के कार्य कर रहा है।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव प्राविधिक शिक्षा राधा एस चैहान, विवि के प्रति कुलपति प्रो विनीत कंसल, सीएएस के निदेशक प्रो मनीष गौड़, आईईटी के निदेशक प्रो एचके पालीवाल, एफओए की डीन प्रो वंदना सहगल, विभिन्न सम्बद्ध संस्थानों के निदेशको ने प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का संचालन केएनआईटी, सुल्तानपुर के निदेशक प्रो जेपी पाण्डेय ने किया। कार्यक्रम के अंत में डीन पीजी प्रो एमके दत्ता ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *