Fri. May 29th, 2020

वर्ष 2017-18 के जो भी निर्माण कार्य अपूर्ण है उन्हे पूरा करायें- सहकारिता मंत्री

उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 एवं उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण एवं श्रम विकास सहकारी संघ लि0 के द्वारा शासकीय विभागों के जो भी निर्माण कार्य पूर्ण करा दिये गये है उन्हे शीघ्र ही हस्तान्तरित करा दिये जाये इसमें किसी प्रकार की ढिलाई नही की जाये। यह बात कार्यो की प्रगति की समीक्षा करते हुए उत्तर प्रदेश के सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने विधान भवन स्थिति अपने कार्यालय कक्ष में कहीं।

सहकारिता मंत्री ने उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 वं उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण एवं श्रम विकास सहकारी संघ लि0 के कार्यो की समीक्षा करते हुए कहा कि वर्ष 2017-18 के जो भी निर्माण कार्य अपूर्ण है उन्हे पूर्ण कराया जाये। उन्होने यह भी कहा कि संस्था द्वारा यह प्रयास किया जाना चाहिए उनके स्तर पर निर्माण कार्य में किसी प्रकार ढिलाई नही होने पायें और जिन विभागों के कार्यो को कराया जा रहा है उन विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए निर्माण कार्य को पूर्ण कराया जाये।
समीक्षा के दौरान उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लि0 के प्रबन्ध निदेशक धीरेन्द्र सिंह ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2017-18 में 406.78 करोड रूपयें, वर्ष 2018-19 में 500.77 करोड रूपये तथा 2019-20 में संस्था द्वारा 575.10 करोड रूपयें की लागत के निर्माण कार्य कराये गये है। संस्था द्वारा वर्तमान में कुल 32 शासकीय विभागों के निर्माण कार्य कराये जा रहे है। संस्था द्वारा वर्ष 2017-18 में 16.30 करोड, वर्ष 2018-19 में 17.39 करोड एवं वर्ष 2019-20 में 23 करोड रूपयें अनुमानित का शुद्व लाभ अर्जित किया गया है।
समीक्षा बैठक में उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण एवं श्रम विकास सहकारी संघ लि0 प्रबन्ध निदेशक ने बताया कि वर्ष 2017-18 में 187.48 करोड रूपयें, वर्ष 2018-19 में 152.65 करोड रूपयें व वर्ष 2019-20 में 33.25 करोड रूपये की लागत से निर्माण कार्य कराये गये है। उन्होने बताया कि संस्था द्वारा वर्ष 2018-19 में 6.13 करोड रूपयें व वर्ष 2019-20 में 10 करोड रूपयें अनुमानित का शुद्व लाभ अर्जित किया गया है।
इस अवसर पर बैठक में प्रमुख सचिव सहकारिता एम0वी0एस0 रामीरेडडी, आयुक्त एवं निबंधक एस0वी0एस0 रंगाराव, विशेष सचिव सहकारिता मो0जुनीद सहित अन्य सम्बधित अधिकारी आदि मौजूद थें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *